photo copy printer

भय वहम और अंधविश्वास ! fear and superstition

भय वहम  और अंधविश्वास  !   fear and superstition:-   भय वहम  और अन्धविश्वाश  मानव  जीवन के सभी लोगो  को यह ग्रसित कर सकता  है यह बहुत प्रकार का होता है अगर आपका कोई काम नहीं हो रहा हो तो आप के अंदर उस काम के परिणाम को न पाने की कमी आपको भय , और अंधविश्वास की तरफ दखेलेगा , आप कोई भी काम अपने अनुसार करना चाहते है , अगर वह अपने अनुसार नहीं होता तो उसे पाने के लिए हम शॉर्टकट रास्ता चुनते है जो हमें अंधविश्वास की तरफ ले जाता है

अन्धविश्वास क्या है  :-   बिना कर्म के फल की चिंता करने वाले लोग , फल प्राप्ति के लिए बहुत चिंतित होते है और वह शॉर्टकट रास्तो को चुनते है और बिना और जो नहीं होता उसपे भी विश्वास करते है , वह काम जिससे कभी परिणाम आये ही नहीं वह काम अन्धविश्वास है
जब अपने आप पर , अपनी मेहनत पर विश्वास नहीं होता वही अंधविश्वास  है , विश्वाश में कमी ही अन्धविश्वास होता है !!!

अन्धविश्वास  से कैसे बचे :-   अन्धविश्वाश से बचने का मात्र एक ही उपाय है अपने स्वयं का विश्वास  बड़ा ले , दुनिया  में  हर एक इंसान के पास यह सकती है , जो वह सबकुछ कर सकता है , वह हे अपने आप का विश्वास आप अपने आप पर विश्वास जितना करेंगे आप अन्धविश्वास से दूर रहेंगे , कभी किसी पे इतना विश्वास नहीं करना जिससे अपने विश्वास में कमी हो , किसी दूसरे पे विश्वास करना अच्छी बात है पर अपने आत्मा विश्वास को काम समझना यह आपके लिए नुकसान है !!!


अन्धविश्वास से नुकसान :-  अन्धविश्वास से आपको बहुत बड़ा नुकसान हो  सकता है जब तक आप , समझेंगे आप नुकसान में फस जायेंगे , अन्धविश्वाश वह सकती है जो आपकी सकती को खतम कर  के आपको अँधेरे में धकेल देगी ,
इंडिया में अधिकतर लोग अन्धविश्वाश के दलदल में फसे हुए है , हर एक दिन करोडो लोग , इस मायाजाल में अपनी आहुति दे रहे है , क्या सही क्या गलत का निर्णय नहीं ले पा रहे हमेशा , दुसरो पे विश्वास  करते है , और अंत जब समझ अति है तब बहुत देर हो जाती है , आपकी पूरी ज़िन्दगी संकोच में ख़त्म हो  जाएगी आप कुछ  नहीं कर पाएंगे !!!

भगवान  पर विश्वास :-भगवान पे विश्वास  सभी करते है , सफल भी असफल लोग भी , परन्तु , ऐसा क्या होता है की कुछ लोग सफल हो जाते है और कुछ , असफल , उसका खास कारन है , सफल लोग भगवान को मानते है भगवान् पे विश्वास रखते है , और साथ में कर्म भी करते है , और सफल हो जाते है ,
और असफल लोग विश्वास  करते करते , कर्म नहीं करते सब कुछ भगवान् पे छोड़ देते है , और यही अन्धविश्वास  है !

भारत में अन्धविश्वस :- अंध्विश्वास हर १०वे घर मिलेगा , इसका खास कारन है , भारत में लोग अपने आप पर काम और लोगो पे जयदा विश्वास करते है , हर तीसरा इंसान लोगो के कहने अनुसार चलता है उनकी खुद की ज़िन्दगी कुछ नहीं है वो दुसरो पे ही विश्वास करते है , और सारा जीवन इसी में ख़त्म कर देते है कुछ भी नया नहीं कर पाते ,  बिना कर्म के सबकुछ पा लेने की ख्वाहिस अधिकतर , भारत में चल रहा है और भारत के २०% लोग जो मेहनत करते है वो सबसे अधिक सफल हो जाते है और ८०% अन्धविश्वास के जाल में फसे हुए है !!!

दुनिया में कर्म ही प्रधान है 






english translate 


Fear fear and superstition:-

Fear and blindness can affect all the people of human life. It is very different. If you are not doing any work, then the lack of not getting the result of that work in you will make you look towards fear, and superstition. , You want to do any work according to yourself, if it is not according to ourselves, then to get it, we choose a shortcut path
which leads us to superstition

What is superstition: - People who worry about the fruits of karma, are very worried about the fruits and they choose the shortcut paths and believe in what else does not happen, the work that never results. That work is superstition

When you do not believe in yourself, your hard work is the same superstition, lack of faith is superstition !!!

How to avoid superstition: - The only way to avoid superstition is to increase your own faith, every person in the world can have it, who can do everything, he is his belief in himself. As much as you believe, you will stay away from superstition, never believe so much on someone that is lacking in your faith, it is a good thing to believe in someone else but it is a loss for you to understand your soul belief to work !!!


Damage from superstition: - Superstition can cause you great harm, as long as you understand that you will fall into harm, superstition can be the one that will finish you and push you into darkness,
Most people in India are trapped in a quagmire of superstition, crores of people are making sacrifices every single day, always unable to decide what is right and wrong, always believe in others, and when the end is too much to understand Then it is too late, your whole life will end in inhibition and you will not be able to do anything !!!

Belief in God: All believe in God, even successful people fail, but, what happens is that some people become successful and some, unsuccessful, have a special reason, successful people believe in God, believe in God Keep, and do karma together, and become successful, And unsuccessful people believe, do not do deeds and leave everything to God, and this is superstition!


In India, blind faith: - Superstition will be found every 10 homes, this is a special reason, people in India believe in work and people on their own, every third person walks according to what people say, their own life is nothing but others. He only believes, and ends his whole life in this, he is unable to do anything new, most of the desire to get everything without karma, is going on in India and 20% of the people of India who work hard are the most successful And 70% are trapped in the web of superstition !!!
Karma is dominant in the world


भय वहम और अंधविश्वास ! fear and superstition भय वहम और अंधविश्वास  !   fear and superstition Reviewed by pawan surpal on June 07, 2020 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.